Mira Kant/मीरा कांत
लोगों की राय

लेखक:

मीरा कांत
जन्म : सन 1958, श्रीनगर।

शिक्षा : दिल्ली विश्वविद्यालय से हिन्दी साहित्य में एम.ए. और जामिया मिल्लिया इस्लामिया से पी-एच.डी.।

कृतियाँ :

उपन्यास : ततः किम्।

कहानी-संग्रह : कागजी बुर्ज, हाइफन।

नाटक : ईहामृग, नेपथ्य राग।

शोधपरक ग्रन्थ : अन्तर्राष्ट्रीय महिला दशक और हिन्दी पत्रकारिता।

बाल साहित्य : नाम था उसका आसमानी।

संस्मरण : स्मृतियों के सान्निध्य में।

संपादन : मीरां : मुक्ति की साधिका।।

पुरस्कार/सम्मान : फिल्म लेखन के लिए स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मन्त्रालय, भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत (1992)। ‘ईहामृग’ के लिए सेठ गोविन्द दास सम्मान (2003) तथा ‘नेपथ्य राग’ के लिए साहित्य कला परिषद् द्वारा मोहन राकेश सम्मान (2003) से विभूषित।

सम्प्रति : एन.सी.ई.आर.टी. में बतौर सम्पादक कार्यरत।

कन्धे पर बैठा था शाप

मीरा कांत

मूल्य: $ 12.95

मीरा कांत की यह कृति उन छूटे हुए, अव्यक्त पात्रों एवं स्थितियों की अभिव्यक्ति है जो या तो साहित्यिक मुख्यधारा का अंग न बन सकीं   आगे...

कागजी बुर्ज

मीरा कांत

मूल्य: $ 10.95

मीरा कांत की कहानियाँ....   आगे...

गली दुल्हनवाली

मीरा कांत

मूल्य: $ 19.95

स्त्री के जीवन से जुड़े ज्वलंत प्रश्नों पर रचनात्मक बहस को आमंत्रित करने का माद्दा इन कहानियों में भरपूर है...   आगे...

ततः किम्

मीरा कांत

मूल्य: $ 8.95

प्रस्तुत है श्रेष्ठ उपन्यास....   आगे...

नेपथ्य राग

मीरा कांत

मूल्य: $ 4.95

प्रस्तुत है नेपथ्य राग...   आगे...

 

  View All >>   5 पुस्तकें हैं|