Chandrakiran Saunrexa/चन्द्रकिरण सौनरेक्सा
लोगों की राय

लेखक:

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा
जन्म : 19 अक्टूबर सन् 1920।

पेशावर छावनी नौशहरा में जन्मी चन्द्रकिरण की शिक्षा मेरठ में हुई। हिन्दी साहित्यरत्न की परीक्षा उत्तीर्ण करने के साथ-साथ स्वाध्याय द्वारा अंग्रेजी, उर्दू, बाँग्ला, गुजराती एवं गुरुमुखी आदि भाषाएँ सीखीं। सन् 1940 में नवोदित लेखक पत्रकार कान्तिचन्द्र सौनरेक्सा से विवाह हुआ।

प्रथम कहानी सन् 1931 में प्रकाशित हुई। सन् 1946 में सेक्सरिया पुरस्कार प्राप्त कहानी संग्रह ‘आदमखोर’ को लंदन विश्वविद्यालय के ‘द इन्सटिटयूच ऑफ ओरियण्टल स्टडीज’ पाठ्यक्रम में शामिल किया गया। सन् 1956-79 तक आकाशवाणी, लखनऊ, में लेखन कार्यकरते हुए अनेक नाटकों, कहानियों, वार्ताओं व बाल-साहित्य का सृजन व प्रसारण किया।

पुरस्कार/सम्मान : सन् 1986 में ‘सारस्वत सम्मान’, सन् 1988 में ‘सुभद्रा कुमारी चौहान पदक’ तथा स्त्री सशक्तिकरण वर्ष 2001 में ‘सर्वश्रेष्ठ हिन्दी लेखिका’ की उपाधि से दिल्ली हिन्दी अकादमी द्वारा अलंकृत।

कृतियाँ :

उपन्यास : चन्दन चाँदनी, वंचिता, और दिया जलता रहा, कहाँ से कहाँ नहीं।

कविताएँ : छाया (उपनाम से रचित), ज्योत्सना (उपनाम से रचित)।

कहानी-संग्रह : हिरनी :- ( वहम के पुतले, तूफान, भ्रम, हिरनी, सौदा, निरुपाय, अकीला, ममता, नारी, संसार का सुख, भाभी का मजाक, छुटकारा, परख, गेंदा बन जाऊँगी।), वे भेड़िये :- (राह के रोड़े, घर की फूट, किशोर, मझली बहू, ‘आजादी से पहले, आजादी के बाद’, ‘हम इन्सान, ये जानवर’, कॉमरेड, विषम, दो राष्ट्र और एक इन्सान, नारी शक्ति है, देश की मौत, ‘धर्म मरा, राष्ट्र जिया’, कब्र पर, अधूरी आजादी, वे भेड़िए, कुचक्र का अन्त, आर्त्तनाद, रईसों की महफिल, असफल प्रयोग, रानी और दासी।), सौदामिनी :- (चिर कुमार, छलिया, कायर, पहली भूल, गृहस्थी का सुख, बनवारी, चाय में नींबू, अन्तर, जीजी, सौदामिनी, मर्द, एजूकेटेड वाइफ, अधिकार, सोना की माँ, टोटका, कमीनों की जिन्दगी में, ये दरिन्दे, ‘ये शिकार’।), दूसरा बच्चा :- (खटराग, बंजर, मानव की अमरता, आवारा, सिर्फ नौ-जमातें, जिन्दगी की माँग, तीसरी कोशिश, दूसरा बच्चा, परम्परा, काया और कल्पना, इज़्ज़त-हतक़, ‘अच्छा लड़का, अच्छी लड़की’, प्रेम का प्रयोग, निशानी, धरती के पुत्र, डेड लॉक, सबोटाज, प्रेम और रोटी, जनता के ये प्रतिनिधि, असन्तोष क्यों, खाई।), ए क्लास का कैदी :- (‘न खुदा ही मिले, न बिसाले सनम, लाटरी, दीमक, बेजुबाँ, ए क्लास का कैदी, रुपया, बोलती लाश, आदमखोर, दो रोटियाँ, ‘क्या जिन्दगी, क्या मौत’, किराए की माँ, सुभद्रा, जवान मिट्टी, अबूझ, खूँटे की गाय, किसी की करनी, किसी की भरनी।), नासमझ, आधा कमरा, खुदा की देन, उधार का सुख, जवान मिट्टी :- (जवान मिट्टी, सौदामिनी, डेडलॉक, एक क्लास का कैदी, अकीला, ममता, किराये की मां, हिरनी, गेंदा बन जाऊंगी, तीसरी कोशिश, सौदा, तूफान, परख, छुटकारा, कमीनों की जिन्दगी में, दीमक, बोलती लाश, सिर्फ नौ-जमातें, रेखाएं और वर्ग, वर्ग और वृत्त, अच्छा लड़का, अच्छी लड़की, सबोटाज, प्रेम और रोटी, दो राष्ट्र और एक इन्सान, अंतिम पत्र, कब्र पर, वे भेड़िये।)।

ए क्लास का कैदी

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा

मूल्य: $ 12.95

श्रेष्ठ कहानी-संग्रह...   आगे...

जवान मिट्टी

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा

मूल्य: $ 8.95

प्रस्तुत है श्रेष्ठ कहानी संग्रह....   आगे...

दूसरा बच्चा

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा

मूल्य: $ 13.95

महादेवी ने जो प्रसिद्धि कविता क्षेत्र में प्राप्त की है, चन्द्रकिरण ने वही कहानी के क्षेत्र में पाई। मध्यम वर्ग की नारी का जितना यथार्थ चित्रण आपकी कहानियों में हुआ है उतना कदाचित ही किसी कथाकार की कृतियों में हुआ हो।   आगे...

वे भेड़िए

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा

मूल्य: $ 14.95

मध्यवर्गीय स्त्रियों के जीवन पर आधारित कहानी-संग्रह...   आगे...

सौदामिनी

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा

मूल्य: $ 14.95

पीड़ित वर्ग की कथा...   आगे...

हिरनी

चन्द्रकिरण सौनरेक्सा

मूल्य: $ 13.95

इक्कीसवीं सदी के अनगिनत छोटे-बड़े शहरों व कस्बों की कहानियाँ...   आगे...

 

  View All >>   6 पुस्तकें हैं|